बिजली गिरने की स्थिति में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? जानें इससे बचने के उपाय।
TRENDING
  • 10:24 PM » गर्मियों के सीजन में करें इन सब्जियों और फलों के जूस को अपनी डाइट में शामिल।
  • 9:56 PM » क्रिकेट पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on cricket in hindi.
  • 4:10 PM » सेब का जूस बनाने की विधि : Apple juice recipe in hindi.
  • 10:33 PM » तरबूज का जूस बनाने की रेसिपी – Watermelon juice recipe in hindi.
  • 11:33 PM » NDMA ने बताए गर्मियों में लू से बचने के उपाय – Tips to avoid heat stroke in summer in hindi.

मानसून के सीजन में होने वाली भारी बरसात अपने साथ कई बार अनेक प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं को भी साथ लेकर आती है। जिनमे से कुछ मुख्य, बादल का फटना, अत्यधिक बारिश के कारण बाढ़ आना, भूस्खलन होना और बिजली का गिरना शामिल हैं। बरसात के मौसम में हमे सबसे अधिक खतरा आकाशीय बिजली से होता है। हर साल देश में हजारों लोगों की मौत का कारण बनती है आकाशीय बिजली। आपने भी इस बात पर गौर किया होगा, बारिश आने से पहले आसमान में घने बादल छाने लगते हैं और आसमान में बिजली चमकने लगती है। कई बार यह बिजली हमारे बेहद पास गिर जाती है, जिसका धमाका बहुत तेज होता है। बिजली गिरने के कारण भरी नुकसान होने के साथ-साथ व्यक्ति की मौत तक हो सकती है। आज हम चर्चा करेंगे आखिर क्यों गिरती है आसमान से बिजली और बिजली गिरने के दौरान इससे कैसे बचा जा सकता है? साथ ही चर्चा करेंगे बिजली गिरने की स्थिति में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

क्यों गिरती है आकाशीय बिजली –

आसमान में बादल हवा के वेग के कारण एक दिशा से दूसरी दिशा की तरफ जाते हुए जब एक दूसरे से आपस में टकरा जाते हैं, तो उनमें इससे एक तेज घर्षण उत्पन्न होता है। बादलों के आपस में टकराने से उत्पन्न हुए इस तेज घर्षण के कारण बिजली पैदा होती है। अब इस बिजली को जरूरत होती है किसी कंडेक्टर की। लेकिन आसमान में कोई कंडेक्टर मौजूद न होने के कारण यह बिजली पृथ्वी की तरफ गिरने लगती है। पृथ्वी पर पहुंचने के बाद बिजली को जरूरत होती है एक ऐसे माध्यम की जो उसके लिए एक अच्छे कंडक्टर (संचालक) का कार्य करे और जहां से वह गुजर सके। यदि यह बिजली के खंभों के संपर्क में आती है, तो वह उसके लिए कंडक्टर का काम करते हैं। लेकिन इस दौरान यदि कोई व्यक्ति इसकी परिधि में आ जाये तो वह उसके लिए सबसे बढि़या कंडक्टर का काम करता है। यही कारण है कि आकाशीय बिजली गिरने से व्यक्ति की मौत तक हो जाती है।

बिजली गिरने के
cortesy google

आकाशीय बिजली से बचने के उपाय –

* यदि आप बादलों की गरज के दौरान घर के अंदर मौजूद हैं, तो वहीं बने रहें। भूलकर भी बारिश में भीगने और मस्ती करने के इरादे से घर से बाहर न निकलें।

* बिजली पैदा करने वाली चीजों से दूरी बनाकर रखें, जैसे रेडिएटर, फोन, धातु के पाइप, स्टोव इत्यादि।

* घर के बाहर हैं तो पानी, बिजली के तारों, खंभों, हरे पेड़ों और मोबाइल टॉवर आदि से दूर हट जाएं।

* बिजली गिरने के दौरान अपने दोनों हाथों से कानो को ढक लें, ताकि बिजली की तेज आवाज़ से कान के पर्दे न फट जाएं।

* घर से बाहर हैं तो तुरंत आस पास के किसी मकान, दुकान या बिल्डिंग के अंदर जाकर खड़े हो जाएँ।

* यदि बिजली की आवाज बहुत तेज आपके घर के आस पास सुनाई दे रही हो तो घर में मौजूद सभी इलेक्ट्रिक उपकरणों (टीवी, फ्रिज, ओवन, कम्प्यूटर) को बंद कर उनका प्लग निकल दें।

* बिजली गिरने के दौरान भूलकर भी मोबाइल और कम्प्यूटर चार्ज पर न लगाएं।

जानिए भूकंप के दौरान क्या करना चाहिए क्या नहीं।

बिजली गिरने की स्तिथि में इन बातों का रखें ध्यान –

* यदि किसी व्यक्ति बिजली की चपेट में आ गया हो, तो बिना किसी देरी के उसे नजदीकी अस्पताल ले जाएँ।

* यदि कोई व्यक्ति आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया हो, तो फ़ौरन उनकी नब्ज़ जाँचे और अगर आप फर्स्ट एड देना जानते हैं तो बिना किसी देरी के शुरू हो जाएँ।

* बिजली गिरने से मानव शरीर के दो जगहों पर जलने की सम्भावना सर्वाधिक रहती है। पहली वो जगह जहाँ से बिजली का झटका शरीर में प्रवेश किया और दूसरी जिस जगह से उसका निकास हुआ जैसे पैर के तलवे।

* यह भी संभव है कि बिजली गिरने से व्यक्ति की हड्डियाँ टूट गई हों या उसे सुनना या दिखाई देना बंद हो गया हो। इसलिए इसकी भी जाँच करें।

* अगर बादल गरजने के दौरान आपके शरीर के बाल यानि रोंगटे खड़े होने लगे, तो ये इस बात का संकेत है कि बिजली गिर सकती है। ऐसे में अपनी दोनों एड़ियों को जोड़कर जमीन पर पर उकड़ू बैठ जाएं। इस मुद्रा के कारण आपका ज़मीन से कम से कम संपर्क होगा।

* बिजली गिरने का अंदाजा आप उसकी आवाज से भी लगा सकते हैं। यदि चमक के बहुत देर बाद आवाज सुनाई दे, तो इसका मतलब बिजली कहीं बहुत दूर गिर रही है। यदि चमक के कुछ सेकेण्ड के अंदर आपको तेज धमाके की आवाज सुनाई दे, इसका मतलब बिजली आपके आस पास कहीं गिरी है।

* इस दौरान छतरी या मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल न करें। धातु के ज़रिए बिजली आपके शरीर में घुस सकती है।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT