हरियाणा के रोहतक PGI में शुरू हुआ भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन का ट्रायल।
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत से जल्द ही अच्छी खबर सामने आने की संभावना जताई जा रही है। भारत में बनी (Covaxin) के पहले ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) की शुरुआत हरियाणा के PGI रोहतक में शुरू कर दिया गया है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के मुताबिक जिन 3 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गयी उनमें अभी तक किसी भी प्रकार के साइड इफेक्‍ट देखने को नहीं मिले हैं। बता दें कि हरियाणा के रोहतक PGI में जिस वैक्सिन से ट्रायल चल रहा है उसे भारत बायोटेक कंपनी ने ICMR के साथ मिलकर बनाया है। इंसानो पर प्रयोग से पहले कोवैक्सिन (Covaxin) का ट्रायल जानवरों के ऊपर सफलता पूर्वक किया गया था।

इस टेस्ट के पहले ट्रायल में वैक्सीन का परीक्षण 18 से 55 साल की उम्र वाले स्‍वस्‍थ लोगों को वैक्सीन की पहली दो डोज देकर किया जायेगा। फेज 1 ट्रायल में दूसरी डोज 14वें दिन पर दी जाएगी। टोटल 1,125 वॉलंटिअर्स पर स्‍टडी की जाएगी जिसमें से 375 पहले फेज में शामिल होंगे और 750 दूसरे फेज में। टेस्‍ट के बीच में 4:1 का रेशियो होगा। भारत बायोटेक की इस वैक्सीन को लेकर पिछले 10 दिनों से हरियाणा के रोहतक PGIMS के 100 लोगों ने स्वतः आगे आकर ट्रायल के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाया था। बता दें कि इस वैक्सीन के ट्रायल के लिए अलग-अलग शहरों के अस्पताल चुने गए हैं।

देश में बढ़ते कोरोना केस पर लगाम कसने के लिए इन दिनों 7 वैक्सीन का डवलपमेंट अपने अलग अलग फेज में पहुंच चुका है। इनमें से अभी तक 2 वैक्सीन को क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने की मंजूरी मिल चुकी है। इस महीने की शुरुआत में जाइडस कंपनी ने कहा था कि उसे वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल परीक्षण शुरू करने के लिए प्राधिकारियों से स्वीकृति मिल गयी है। विश्व की बात करें तो इस समय अलग-अलग देशों की 140 से अधिक वैक्सीन पर काम चल रहा है। इस रेस में सबसे आगे रूस फिर चीन और उसके बाद अमेरिका और यूरोप के अन्य देश बने हुए हैं। अब यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि वैक्सीन की इस रेस में कौन सा देश बाजी मारेगा।

अब तक हो चुके कोरोना वायरस की दवा बनाने के दावे 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT