Bel Patra Ke Fayde : बेलपत्र के फायदे और नुकसान।
TRENDING
  • 10:28 PM » प्रेगनेंसी के दौरान पीठ दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के उपाय।
  • 11:48 PM » लौंग की चाय पीने के फायदे (Laung ki chai ke fayde) – Benefits of clove tea in Hindi.
  • 6:11 PM » पालक फेस पैक बनाने की विधि – Palak face pack banane ki vidhi.
  • 7:08 PM » बालों में कंडीशनर लगाने का सही तरीका (Conditioner lagane ka sahi tarika) – How To Use Conditioner In Hindi.
  • 10:07 PM » महात्मा गांधी पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on mahatma gandhi in hindi.

Bel patra ke fayde… हिन्दू धर्म में धार्मिक दृष्टिकोण से बेलपत्र को बहुत पवित्र माना जाता है। बेलपत्र के फायदे की बात करें तो इसका प्रयोग कई बिमारियों के खतरे को टालने का काम करता है। इसके पत्तों का उपयोग भगवान शिव की पूजा अर्चना में किया जाता है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है कि सोमवार के दिन भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। आज के इस आर्टिकल में हम धार्मिक दृस्टि से पवित्र माने जाने वाले बेलपत्र से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों के के बारे में चर्चा करेंगे। इसके अलावा हम जानेंगे बेलपत्र के फायदे (Bel patra ke fayde) और नुकसान।

बेल के फायदे – Benefit from Bel in Hindi.

बेल के फायदे की बात करें तो इससे कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ लिए जा सकते हैं। इसका सेवन कई बिमारियों के खतरे को टालने का काम करता है। इसका सेवन वात विकार, कफ, बदहजमी, दस्त, डायबिटीज, मूत्र रोग, पेचिश, ल्यूकोरिया जैसी समस्याओं को दूर करने का काम करता है।

बेलपत्र के फायदे

बेलपत्र के फायदे (Bel patra ke fayde) – Benefits of bael patra in hindi.

Bel patra ke fayde : डायबिटीज रोगियों के लिए –

शुगर की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए बेलपत्र का सेवन करना बेहद फायदेमंद हो सकता है। इसके पत्ते में मौजूद एंटी डायबिटिक गुण ब्लड शुगर लेवल को कम करने का काम करते हैं। इसके पत्तों को पीसकर उनका रस निकालें और दिन में दो बार इनका सेवन करें। नियमित रूप से इसके पत्तों के रस का सेवन शुगर जैसी समस्या से छुटकारा दिलाने में अहम रोल निभाता है।

Bel patra ke fayde : हेल्दी हार्ट लिए –

बेलपत्र का सेवन ह्रदय के स्वास्थ्य को दुरुस्त बनाने के लिए भी जाना जाता है। प्राचीन काल से ही बेल के जूस का सेवन देशी घी के साथ करने से हृदय से जुडी बिमारियों के खतरे को टाला जा सकता है। हेल्दी हार्ट की चाहत रखने वाले लोगों को नियमित रूप से बेलपत्र के पत्तों का काढ़ा बनाकर अवश्य पीना चाहिए।

Mosambi Juice Ke Fayde : मौसंबी का जूस पीने के फायदे (Mosambi Juice Benefits In Hindi)।

Bel patra ke fayde : कैंसर के खतरे को टाले –

औषधीय गुणों से भरपूर बेलपत्र का सेवन कैंसर जैसी गंभीर और जानलेवा बीमारी के खतरे को कम करने का काम करता है। इसके लिए आपको इसके पत्ते से बने चूर्ण का सेवन करना होगा। हालाँकि आपको इस बात को भी अच्छी तरह से समझना होगा कि इसके पत्ते से बने चूर्ण को कैंसर की दवा नहीं मानी जा सकती है।

पेट से जुडी समस्याओं में बेलपत्र के फायदे –

पेट से जुडी समस्याओं को दूर करने के लिए बेल के पत्ते और फल दोनों का प्रयोग फायदेमंद साबित होता है। यह पाचन प्रक्रिया को बढ़ावा देने का काम करता है। इसके फल में फाइबर की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है। इसके पत्ते और फल का प्रयोग पेट से जुडी समस्याओं को दूर करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

5 Mukhi Rudraksha Pahnane Ke Fayde : 5 मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे।

मुंह के छाले के उपचार के लिए बेलपत्र –

मुँह में छाले की समस्या कभी भी किसी भी व्यक्ति को परेशान कर सकती है। मुँह में छाले होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे शरीर में गर्मी का बढ़ जाना, कब्ज होना, एसिडिटी होना आदि। इस प्रकार की समस्या से छुटकारा पाने के लिए बेलपत्र की पत्तियों को चबाएं। मुँह में होने वाले छालों की समस्या से निजाद मिलेगा।

बवासीर में बेलपत्र के फायदे –

यदि आप बवासीर की समस्या का उपचार ढूंढ रहे हैं तो बेलपत्र का प्रयोग आपके लिए किसी रामबाण औषधि से कम नहीं होने वाला। बेल की जड़ों के गूदे को निकाल कर इसे पीस ले। इसके बाद इसमें बराबर मात्रा मिश्री मिलाकर सुबह-शाम ठंडे पानी के साथ खा लें। नियमित रूप से इसका प्रयोग बवासीर की समस्या से छुटकारा दिलाने का काम करता है। आप चाहें तो बेल के फल के गूदे में सौंफ और सौंठ मिलाकर काढ़ा तैयार करें और नियमित रूप से इसका सेवन करें।

Tulsi Ark Ke Fayde : तुलसी अर्क क्या है? जानिए तुलसी अर्क के फायदे।

सर्दी खांसी की समस्या में बेलपत्र के फायदे –

बदले मौसम के दौरान अधिकतर लोगों को सर्दी खांसी की समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में बेलपत्र के रस में शहद मिलाकर इसका सेवन करना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। यदि आप बुखार का घरेलू उपचार करना चाहते हैं, तो इसके पेस्ट की गोलियां बनाकर गुड़ के साथ उनका सेवन करें।

रतौंधी की समस्या में –

बेलपत्र के 10 ग्राम ताजे पत्तों को 10 काली मिर्च के साथ अच्छे से तरह से पीस लें। अब इसमें एक कप पानी डालें और इसे छान लें। इस छने हुए पानी में लगभग 25 ग्राम मिश्री मिलकर रोजाना सुबह और शाम इसका सेवन करें। इसके अलावा रतौंधी की समस्या को दूर करने के लिए बेल के पत्तों को रात भर के लिए पानी में डुबाएं और फिर सुबह इस पानी से आँखे धो लीजिए।

Mint Water Benefits In Hindi : पुदीने का पानी पीने के फायदे।

बेलपत्र के नुकसान – Side effects of bel patra in hindi.

  • अधिक मात्रा में इसका सेवन पेट से जुडी समस्याओं का कारण बन सकता है।
  • अधिक मात्रा में इसका सेवन शुगर लेवल के स्तर को कम कर सकता है।
  • यदि आपको इससे एलर्जी है तो इसका सेवन न करें।

Vitamin A Ke Fayde : विटामिन ए के फायदे।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES

1 COMMENTS

  1. Pingback: Nimbu Pani Ke Fayde : सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने के फायदे।
LEAVE A COMMENT