जानिए प्लेन क्रेश होने से पहले पायलट ने क्यों बोला था मेडे मेडे मेडे (कोड वर्ड)
TRENDING
  • 11:36 PM » Essay on My School in Hindi : स्कूल पर निबंध लिखने का तरीका।
  • 6:57 PM » टंग ट्विस्टर चैलेंज : टंग ट्विस्टर क्या होते हैं? (Best tongue twisters in Hindi).
  • 11:41 PM » Facts About Jupiter In Hindi : बृहस्पति ग्रह से जुड़े रोचक तथ्य।
  • 10:19 PM » Aloe vera for dry scalp in hindi : ड्राई स्क्लेप पर एलोवेरा जेल कैसे लगाएं?
  • 10:52 PM » Facts about mercury planet in hindi : बुध ग्रह से जुड़े रोचक तथ्य।

हाल ही में भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में एक विमान हादसा हुआ था, जिसमे तकरीबन 99  लोग सवार बताये जा रहे थे। अभी तक की रिपोर्ट में विमान हादसे के पीछे का कारण विमान के इंजन में आयी कुछ तकनीकी कमी को बताया जा रहा है। जिसके बाद विमान के दोनों इंजन फेल हो जाने के कारण विमान लैंडिंग से महज कुछ दूरी पहले क्रेश हो गया। इस क्रेश से पहले विमान पॉयलट की कण्ट्रोल रूम से कुछ बात हुई, जिसमे उसने आंखरी बार मेडे मेडे मेडे कोड वर्ड बोला। क्या आप जानते हैं आखिर क्यों किसी भयावह मुसीबत से पहले पायलट मेडे मेडे मेडे कोड वर्ड का प्रयोग करते हैं।

जानिए मेडे शब्द से जुडी कुछ रोचक बातें –

क्या है मेडे शब्द का मतलब –

मेडे एक SOS कोड वर्ड है जो कि फ्रेंच शब्द है। जिसका मतलब होता है हम किसी बड़ी जानलेवा मुसीबत में हैं, हमारी मदद करो। पायलट द्वारा मेडे शब्द का प्रयोग रेडियो से संपर्क के दौरान डिस्ट्रेस कॉल यानी मुसीबत में होने की जानकारी देने के लिए किया जाता है। इस दौरान पायलट ATC को रेडियो के माध्यम से मेडे मेड मेडे कहकर यह संदेश देता है कि वह किसी ऐसी भारी मुसीबत में है जो की जानलेवा हो सकती है। इसलिए तत्काल मदद की गुहार लगाने के लिए पायलट मेडे मेडे मेडे कोड को रेडियो पर बोलता है।

कहाँ से हुई थी मेडे शब्द की शुरुवात –

इतिहास में इस शब्द का इस्तेमाल पहली बार सन 1923 में हुआ था। पहली बार लंदन के वरिष्ठ एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) रेडियो ऑफिसर फ्रेडरिक स्टेनली मैकफोर्ड ने इसका प्रयोग किया था। उनको इस कोड वर्ड को ईजाद करने के पीछे का कारण मैकफोर्ड को मिला वह आदेश था, जिसमे कहा गया था कि एक ऐसा SOS शब्द तैयार करे, जिसका प्रयोग आपातकालीन अवस्था के दौरान हो। साथ ही इस शब्द का उच्चारण छोटा और एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) को समझने में आसान होना चाहिए। बस फिर यहीं से हुआ इस फ्रेंच शब्द मेडे का ईजाद।

पायटल को 3 बार बोलना होता है मेडे –

पायलट को अति आवश्यक इमरजेंसी महसूस होने कि परिस्थिति में मेडे शब्द का प्रयोग कर एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) को सूचित करना होता है। इससे एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) को इस बात की जानकारी हो जाती है कि विमान किसी भयानक इमरजेंसी की अवस्था में पहुंच चूका है और उसे तत्काल प्रभाव से मदद की जरूरत है। बता दें कि सन 2018 में अमेरिकी एयरलाइंस का यात्री विमान एक ऐसी ही आपातकालीन सिचुवेशन में पहुंच गया था। तब पायलट ने मेडे मेडे मेडे कह कर मदद कि गुहार मांगी थी और इस हादसे में सफलतापूर्वक सभी यात्रियों की जान बचा ली गयी थी।

क्या है यूट्यूब VS टिकटॉक विवाद? जिसने प्ले स्टोर में TikTok की रेटिंग 2.0 कर दी।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT