जानिए कैसा होगा अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम, क्या है
TRENDING
  • 11:27 PM » Thyroid me kya nahi khana chahiye : जानिए थायराइड की बीमारी में क्या नहीं खाना चाहिए।
  • 11:06 PM » Sanso ki badboo ka ilaj : सांसों की बदबू दूर करने के घरेलू उपाय।
  • 11:26 PM » Causes of dark lips in hindi : होंठों का रंग काला पड़ने के कारण।
  • 10:20 PM » Benefits of mint for skin in hindi : त्वचा के लिए पुदीना के फायदे।
  • 11:06 PM » तरबूज खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान नहीं खाएंगे धोखा।

एक बार फिर लगभग 492 साल के लम्बे इंतजार के बाद रामनगरी अयोध्या आज उस पल की साक्षी बनेगी, जिसका इंतजार पूरे भारतवर्ष वासियों ने सदियों से किया। आज यानि की 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन कार्यक्रम देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सम्पन्न किया जाएगा। अयोध्या में आज होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। रामलला की ये जन्मभूमि कुछ इस तरह सजी है कि हर किसी के जुबान में आज इसी की चर्चा है। इस समय अयोध्या में सभी मेहमान पहुंच चुके हैं। अब से कुछ ही देर बाद शुभ मुहर्त के अनुसार राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम पावन नगरी अयोध्या में शुरू किया जाएगा। आइए जानते हैं क्या खास होगा इस कार्यक्रम में …।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर के शिलान्यास का अनावरण करेंगे। यह कार्यकम आज दोपहर 12.30 बजे पर सम्पन्नं होगा। इस दौरान वहाँ RSS प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद रहेंगे जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर भूमि पूजन के कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे।

भूमि पूजन का यह मुहूर्त 32 सेंकेड का होगा। मुहूर्त का समय दोपहर 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड के बीच रहेगा। भूमि पूजन के लिए 2,000 पावन तीर्थस्थलों की पवित्र मिट्टी और लगभग 100 पवित्र नदियों का पावन जल मंगाया गया है।

शिलान्यास के लिए जन्मभूमि तीरथक्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की ओर से दान की गई 40 किलो चांदी की ईंटों का इस्तेमाल किया जाएगा।

भूमि-पूजन मुहूर्त पर दोपहर 11:30 से 12:30 बजे के मध्य हरि संकीर्तन का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के लिए दिल्ली, काशी, प्रयाग और अयोध्या से विद्वानों को न्यौता दिया गया है। कुल मिलाकर यह पूरी 21 ब्राह्मणों टीम है जो अलग अलग तरीकों से पूजा कराएगी।

अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन और वहां मौजूद करीब 200 मेहमानों को देखने के लिए बड़ी-बड़ी स्क्रीन लगाई गई हैं। इसके अलावा, राम मंदिर के अगुवा रहे लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जैसे कद्दावर नेता आज इस कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होंगे। कोरोना वायरस संकट और इसके प्रोटोकॉल को देखते हुए ऐसा फैसला लिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रम के लिए विशेष विमान से पहले लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल हवाई अड्डे पर पहुँचेंगे। यहाँ से वह हेलीकॉप्टर द्वारा 11 बजकर 15 मिनट पर अयोध्या पहुंचेंगे। अयोध्या में प्रधानमंत्री लगभग ढाई घंटे तक रहेंगे।

कोरोना वायरस प्रकोप के चलते ऐसी व्यवस्थाएं की गई हैं कि सभी उपस्थित लोग एक दूसरे से 6 फीट की दूरी पर बैठेंगे। मुख्य मंच पर केवल प्रधानमंत्री मोदी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित 5 लोग ही बैठेंगे।

पूरे अयोध्या में सुरक्षा घेरा बढ़ा दिया गया है। CISF के डॉग स्क्वॉयड भी इस कार्य में शामिल किये गए हैं। इसके अलावा पुरे अयोध्या में चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही है। वाहनों कि भी सघन चैकिंग की जा रही है।

भूमि पूजन से पहले प्रधानमंत्री हनुमानगढ़ी जाएंगे और फिर वह मंदिर स्थल का दौरा करेंगे और फिर विशेष डाक टिकट जारी करेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पूजा के दौरान प्रधानमंत्री देशवासियों को संबोधित भी कर सकते हैं।

भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी संतों को चांदी के सिक्के दिए जाएंगे, जो श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट को कामिकोच्चि के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती द्वारा भूमिपूजन के लिए भेजे गए हैं। इस समारोह के लिए करीब 1.11 लाख लड्डू तैयार किये गए हैं।

चीन को एक बार फिर करारा झटका, इस बार कलर टीवी इंपोर्ट पर लगाया प्रतिबंध।

ऐसी महत्पूर्ण खबरों को अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ शेयर करना ना भूलें। 

ऐसी महत्पूर्ण खबरों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT