रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है अजवाइन का काढ़ा, आज ही से पीना शुरू करें।
TRENDING
  • 11:25 PM » Pet mein jalan ka upay : पेट में जलन की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय.
  • 11:23 PM » 10 Lines on gandhi jayanti in Hindi : गाँधी जयंती पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:13 PM » प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान यदि पहली लाइन डार्क और दूसरी लाइन हल्की होने के कारण : Prega news me halki line ka matlab.
  • 11:54 PM » 10 lines on dussehra in hindi : दशहरे पर 10 लाइन निबंध।
  • 11:31 PM » Dry mouth home remedies in hindi : मुंह सूखने के घरेलू उपाय।

बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम, फ्लू और वायरस जनित कई छोटी-मोटी बीमारियां का हो जाना एक बेहद आम समस्या होती है। मौसम बदलने पर होने वाली इस प्रकार की बीमारियां सबसे पहले उन लोगों को घेरती हैं जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। यही कारण है कि ऐसे मौसम में एक्सपर्ट सदैव इम्युनिटी बूस्ट करने की सलाह देते हैं। जिस व्यक्ति की इम्युनिटी क्षमता जितनी उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी उतनी अधिक होगी। यही कारण है कि कोरोना के इस दौर में एक्सपर्ट इम्युनिटी बूस्ट करने पर लगातार जोर दे रहे हैं। आयुर्वेद में इम्युनिटी बूस्ट करने के कई कारगर तरीके मौजूद हैं। इन्हीं तरीकों में से एक है काढ़े का सेवन करना। इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए आयुर्वेद में कई प्रकार से आप काढ़े को बना सकते हैं। आज हम आपको बताएँगे इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए बनाए जाने वाले ऐसे ही एक काढ़े के बारे में। यह काढ़ा हम आपके किचन में मौजूद अजवाइन का प्रयोग कर बनाएंगे। बता दें कि अजवाइन का काढ़ा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने काम कार्य करता है। अजवाइन का काढ़ा पीने से मौसमी फ्लू की समस्या में काफी आराम मिलता है। यह एक अच्छे ज्वर नाशक की तरह कार्य करता है। अजवाइन का काढ़ा आप सर्दी-जुकाम, मौसमी फ्लू जैसी समस्या होने पर कर सकते हैं। यह काढ़ा एंटीऑक्‍सीडेंट गुणों से भरा होता है और यह आपकी इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है। आईये जानते हैं अजवाइन का काढ़ा बनाने की विधि।

अजवाइन का काढ़ा
courtesy google

अजवाइन का काढ़ा :

जैसा की हमने आपको बताया कि अजवाइन का काढ़ा अपने गुणों के चलते इम्यूनिट बूस्ट करने कि क्षमता रखता है। ऐसा आजवाइन में मौजूद पोषक तत्वों के कारण सम्भव हो पाता है। यह काढ़ा रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर आपके स्वास्थ्य को हेल्दी बनाए रखता है। अजवाइन में मौजूद एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण सर्दी-जुकाम जैसी समस्या से लड़ने में लाभकारी होता है। आईये जानते हैं इसे बनाने की विधि।

सामाग्री :

1/2 चम्मच अजवाइन के बीज
5 तुलसी के पत्ते
1/2 चम्मच काली मिर्च पाउडर
1 बड़ा चम्मच शहद

विधि :

  • एक पैन में एक गिलास पानी को डालकर उबालने रखें।
  • अब इसमें अजवाइन, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते डालें।
  • जब तक पानी सुख कर आधा नहीं रह जाए इसे उबलने दें।
  • इसके बाद इसे गैस से उतर दें।
  • हल्का गुनगुना हो जाने पर इसमें शहद मिलाएं और पी जाएँ।

अजवाइन का काढ़ा पीने के फायदे –

गुणों से भरे अजवाइन का जब आप तुलसी, काली मिर्च और शहद के साथ काढ़ा तैयार करते हैं तो इसकी गुणवत्ता कहीं अधिक बड़ जाती है। अजवाइन के काढ़े का सेवन इम्युनिटी बूस्ट करने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने मौसमी फ्लू और सर्दी जुकाम आदि की समस्या से छुटकारा दिलाने का कार्य करता है। इसमें मिलने वाले कुछ मुख्य लाभ इस प्रकार से हैं।

  • पेट से जुडी बिमारियों में अजवाइन के काढ़े का सेवन करना फायदेमंद रहता है।
  • सर्दी-जुकाम, खाँसी और बुखार की समस्या में अजवाइन के काढ़े का सेवन फायदा पहुँचाता है।
  • अजवाइन के काढ़े का सेवन मसूड़ों से जुडी समस्याओं में भी लाभकारी होता है।
  • पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से भी छुटकारा दिलाता है अजवाइन का काढ़ा।

नोट – अत्यधिक मात्रा में अजवाइन का सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए एक दिन में सिर्फ एक ही इस काढ़े का सेवन करें वहीं, स्तनपान कराने वाली मां और गर्भवती को इस काढ़े का सेवन नहीं करना चाहिए।

इम्युनिटी बूस्ट करने के अन्य टिप्स –