मात्र एक इत्तेफाक या किसी साजिश के तहत खिलाया गया आचार्य बालकृष्‍ण को पेड़ा?
TRENDING
  • 6:22 PM » Essay On Peacock In Hindi : मोर पर निबंध लिखने का तरीका।
  • 7:08 PM » Essay on Means of Transport in Hindi : यातायात के साधन पर निबंध।
  • 11:36 PM » Essay on My School in Hindi : स्कूल पर निबंध लिखने का तरीका।
  • 6:57 PM » टंग ट्विस्टर चैलेंज : टंग ट्विस्टर क्या होते हैं? (Best tongue twisters in Hindi).
  • 11:41 PM » Facts About Jupiter In Hindi : बृहस्पति ग्रह से जुड़े रोचक तथ्य।

अपने स्वदेसी प्रोडक्ट्स के लिए बहुचर्चित पतंजलि दिव्य फार्मसी आयुर्वेद कम्पनी के सीईओ आचार्य बालकृष्‍ण को शुक्रवार (23 अगस्त 2019) को दोपहर 2 बजे सीने में तेज दर्द उठने की शिकायत पर पास ही स्थित भूमानंद अस्पताल हरिद्वार में भर्ती कराया गया लेकिन दर्द असहनीय होने पर उन्हें बेहोशी छाने लगी जिसके पश्चायत हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने आपस में राय-मशवरा कर उन्हें एम्स के लिये रेफर कर दिया।

शाम तकरीबन साढ़े चार बजे के आसपास योगगुरु बाबा रामदेव उन्हें बेहाशी की हालत में लेकर ऋषिकेश एम्स पहुंचे। जहाँ एम्स निदेशक प्रोफेसर रविकांत एवं चिकित्सा अधीक्षक डा. ब्रह्मप्रकाश की देखरेख में 6 डॉक्टर्स की टीम ने उनका इलाज शुरू कर दिया। हालांकि डाक्टर अभी स्पष्ट नहीं कर रहे है कि उनकी तबीयत क्यों बिगड़ी। लेकिन अभी तक की जो रिपोर्ट्स निकल कर सामने आ रही हैं उसमें ये मामला फूड पाइजनिंग का बताया जा रहा है।

गर्म पानी से कहें बिमारियों को अलविदा, जानें गर्म पानी पीने के सवास्थ्य लाभ।

वहीं योग गुरु बाबा रामदेव ने भी इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए अपने ट्विटर हेंडल पर एक वीडियो भी जारी किया है जिसमे उन्होंने आचार्य बालकृष्ण के स्वास्थ्य लिए चिंता करने वाले करोड़ों लोगों का धन्यवाद जताते हुए कहा कि जन्‍माष्‍टमी के अवसर पर एक व्‍यक्ति पेड़ा लेकर आया था और आचार्य बालकृष्‍ण ने उसे खा लिया। पेड़ा खाने के 15 मिनट बाद आचार्य बालकृष्‍ण कुछ घंटों के लिए बेहोश हो गए। उन्होंने बताया कि उनकी आचार्य बालकृष्‍ण से बात हो गयी है उनकी हालत में पहले से काफी सुधार है और वो जल्द ही सामान्य अवस्था में आ जायेंगे।

वहीं इस पुरे मामले में एम्स ऋषिकेश ने भी आचार्य बालकृष्‍ण के स्वास्थ्य को लेकर अपना हेल्थ बुलेटिन जारी किया है। उन्होंने बताया कि आचार्य बालकृष्ण को शाम 4 बजकर 45 मिनट पर एम्स लाया गया था, जिसके बाद उनका उपचार शुरू कर दिया गया। जब आचार्य बालकृष्ण को एम्स लाया गया था, वह बेहोशी की हालत में थे। उनके पैरामीटर काफी डाउन थे, लेकिन अब पैरामीटर स्थिर हुए हैं।

हालाकिं बाबा रामदेव ने पेड़ा खाकर आचार्य बालकृष्ण के तबियत बिगड़ने कि पुस्टि तो कर दी है पर यहाँ सवाल ये उठता है कि कैसे इतनी सिक्योरटी के बावजूद कोई व्यत्कि इतनी आसनी से बालकृष्ण को ऐसा पेड़ा खिला देता है कि उनको तत्काल इमर्जेंसी में भर्ती करवाना पड़ता है? दूसरा बड़ा सवाल ये भी है कि बालकृष्ण के आफिस से पतंजलि के गेट और पूरे परिसर में हर जगह CCTV कैमरे मौजूद है तो क्या पेड़ा खिलाने वाले व्यक्ति की फुटेज कैमरो में नही आई ?

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृप्या अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी रोचक जानकारिओं के लिए आज ही हमसे जुड़े :-                                                          Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
RELATED ARTICLES