स्वामी विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध : 10 Lines On Vivekananda In Hindi.
TRENDING
  • 6:44 PM » शिक्षक दिवस पर 10 लाइन निबंध : 10 lines on teachers day in hindi.
  • 11:11 PM » गाड़ियों में सनरूफ क्यों दिया क्यों दिया जाता है – Sunroof uses in car in hindi.
  • 10:30 PM » मानसून के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान करें इन्हें खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल.
  • 9:41 PM » घर पर फेस सीरम को बनाने की विधि – Homemade face serum in hindi.
  • 9:43 PM » ऑलिव ऑयल कितने प्रकार का होता है – Types of olive oil in hindi.

10 lines on vivekananda in hindi…प्यारे बच्चों कैसे हो आप लोग आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं स्वामी विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध। बच्चों स्वामी विवेकानंद एक महान, आदर्शवादी युग पुरुष थे। उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन देश की उन्नति के लिए समर्पित कर दिया था। स्वामी विवेकानंद ने हिन्दुत्व, आध्यात्म और सनातन धर्म का परचम सम्पूर्ण विश्व में लहराया था। उनकी गिनती दुनिया के महान दार्शनिक व्यक्तियों में भी की जाती है। स्वामी विवेकानद का मानना था कि किसी भी देश के युवा उस देश की वो बुनियादी नीवं है, जो उस देश को विकास पथ पर आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है। आईये जानते हैं परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए स्वामी विवेकांनद पर स्वामी विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध (10 lines on vivekananda in hindi) किस तरह से लिखा जाना चाहिए।

विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध
courtesy google

स्वामी विवेकानंद पर 10 लाइन निबंध – 10 lines on vivekananda in hindi.

  1. स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में हुआ था।
  2. विवेकानंद की माता का नाम भुनेश्वरी देवी और पिता का नाम विश्वनाथ दत्त था।
  3. स्वामी विवेकानंद का बचनपन का नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था।
  4. स्वामी रामकृष्ण परमहंस जी ने ही नरेन्द्र नाथ दत्त को स्वामी विवेकानंद नाम दिया।
  5. स्वामी विवेकानंद ने 1 मई 1897 में रामकृष्ण मिशन की शुरुआत की थी।
  6. स्वामी विवेकांनद जी का नारा था “उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक तुम लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।
  7. विवेकानंद के जन्मदिवस को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।
  8. स्वामी विवेकानंद को धर्म और आध्यात्म क्षेत्र में काफी रूचि थी।
  9. स्वामी विवेकानंद की गिनती विश्व के प्रशिद्ध और महान दार्शनिक लोगों में होती है।
  10. 4 जुलाई 1902 को स्वामी विवेकानंद जी ने अपना देह त्याग दिया था।

ये भी पढ़ें –

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी तो कृपया अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों के साथ शेयर जरूर करें. 

ऐसी महत्पूर्ण जानकारियों के लिए आज ही हमसे जुड़े :- 

Instagram
Facebook
Twitter
Pinterest

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT